न जाने किस तरह का इश्क कर रहे है हम,

न जाने किस तरह का इश्क कर रहे है हम,

जिसके कभी हो ही नही सकते उसी के हो रहे है हम।